Best Unlimited Hindi Shayari Collection for WhatsApp and Fb Status




रुख मंदिर का किया था
उसे भुलाने की नीयत से…
दुआ में हाथ क्या उठे​
फिर उसी को मांग बैठे !!


कभी तो आये वो सामने ,
मुद्दत हो गये जिदंगी से मिले !!


चलो थोड़ा अकेला जिया जाए..
दिल दुखाने वालों से किनारा किया जाए !!


बेपनाह मोहब्बत की सजा पाए बैठे है ,
हासिल ना हुआ कुछ भी और सबकुछ लुटाये बैठे है !!


मोहब्बत इतनी कि जता न पाऊ..
दर्द इतने कि बता ना पाऊ !!


सुनो, जाने कैसा कर्ज है, मोहब्बत का मुझपे……………..!!
कितना भी तड़प लूँ, किश्तें दर्द कि पूरी नहीं होती……….!!


बेवफाई कर दी तुमने चलो अलग बात है लेकिन..
सरेआम दुसरो का हाथ थाम यूँ बेहयाई तो न करो..!!


ए “मौत”, जरा पहले आना गरीब के घर,
‘कफ़न’ का खर्च दवाओं में निकल जाता है !!


अकेला रहने पर मजबूर कर दिया तेरी मोहबत ने..
कभी वक़त था हमारे बगैर महफ़िल नहीं चलती थी !!


एक सुकून सा मिलता है….तुझे सोचने से भी
फिर कैसे कह दूँ…मेरा इश्क़ बेवजह सा है !!


जिसे पा नहीं सकते ,,,,,
उसे ब्लॉक कर देना ही इश्क़ है !!


हाल पुछा ना ख़ैरियत पुछी,
आज भी उसने हैसियत पूछी !!


रात ख़ामोश सी…चुपचाप है…,
पर शोर तेरी यादों का बेहिसाब है !!


चाहत ने तेरी मुझको 
कुछ इस तरह से घेरा
दिन को हैं तेरे चर्चे 
रातों को ख़्वाब तेरा
तुम हो जहाँ वहीं पर 
रहता है दिल भी मेरा
बस इक ख़्याल तेरा 
क्या शाम क्या सवेरा !!


“उसे सोचकर उठना…और उसे सोचकर सो जाना,
कितना आसान है…उसका न होकर भी उसका हो जाना…!”


सिलसिले ये मोहब्बत के कभी न थमने वाले….
तुम हमारे नहीं होने वाले, हम किसी और के नहीं होने वाले…😘.!!!!


“मेरी बर्बाद ज़िंदगी को मिली सज़ा हो तुम..,
मर मर के जी रहे हैं…उसकी वजह हो तुम..!”


सलीक़ा हो अगर भीगी हुई आँखों को पढने का,
तो फिर बहते हुए आंसू भी अक्सर बात करते हैं !!


लेकर के मेरा नाम मुझे कोसता तो है,
नफरत ही सही पर वो मुझे सोचता तो है !!


दिल अभी पूरी तरह टुटा नही…
आपकी जरा ओर मेहरबानी चाहिए !!


हैसियत की बात ना कर,
तेरी जेब से बड़ा मेरा दिल है !!


“ये अलग बात है कि तेरी सुनी
गयी…,
वरना रब तो मेरा भी वही था ।।”


तुम मुझे कई दिनों तक इग्नोर करते हो…
फिर भी हम तुम्हे 0.02 सेकंड में रिप्लाई करते है !!


मोहब्बत के दाव मे माहिर थे हम ..
लेकिन नफरत मे वो दो कदम आगे निकले !!


हम रूठ भी जाएं तो ……हमें मनाएगा कौन
बस इसी फिक्र में ……खुश रहते हैं..!!


है कोई, जो करेगा रफूगरी मेरी….
इश्क खा गया है जगह-जगह से मुझे !!


यूँ ही नही आई मेरे लहज़े में तल्ख़ी
रिश्तों में बेरुख़ी का ज़हर चखा है मैंने !!

Aashiqui, Dard Bhari and Love Shayari Collection in Hindi

shayri_hindi_99hindistatus



तुम सा कोई दूसरा जमीन पर हुआ, तो रब से शिकायत होगी !!


देखते हो बस ऐब ही ऐब मुझ में…!! मीडिया से हो गए हो आजकल तुम…!!


हमें देख कर जब उन्होने मुँह मोड लिया एक तसल्ली सी हो गयी की चलो, पहचानते तो है..!!



पत्थर की तरह सख्त बन जाते हैं धीरे धीरे
लम्हे गुज़र कर वक़्त बन जाते हैं धीरे धीरे !! 



प्यार वो जख्म है जो कभी भरता नही ।
ये वो सफर है जो मर के भी ख़त्म होता नही !!


“फूल ही नहीं हम काँटों मै भी बसते है ,
ख़ुशी ही नहीं हम गम मै भी हँसते हैं !!
शायरी करना आसान नहीं ऐ दोस्त ,
दर्द दिल मैं होता है तब शायर बनते हैं !!


तुम बंद कर लो चाहे दिल के दरवाजे सारे , हम दिल मैं उतर जायेंगे कलम के सहारे !!


मैं वो चाँद हूँ जो अनगिनत सितारों के बीच अकेला है  !!


इशारों में बात करनी थी, तो पहले बताते,
हम शायरी को नही, आँखों को सजाते !!


sad_shayari_image_99hindistatus11


चाहूँ तो चंद लफ़्ज़ों में तुम्हारा पूरा शहर भिगो दूँ..
खैर छोड़ो गुमनाम ही रहने दो ये शायर के इश्क़ की कहानी है..!!


इक राह में हूं, इक सफर में हूं।
तेरे इश्क में हूं, तेरे असर में हूं !! 


हिचकियाँ रात दर्द तन्हाई आ भी जाओ तसल्लियाँ दे दो !! ~ नासिर जौनपुरी


कोहरा, कभी धूप, कभी ओस की बूँदें मिल कर तुम्हारी याद का कारोबार करे है !!


दुनिया कितनी छोटी है न तुम पर आ कर रुक सी गई है !!


कभी तिनके..कभी पत्ते..तो कभी ख़ुश्बू उड़ा लाई.. हमारे पास तो आँधी भी कभी तनहा नहीं आई..!!


गम की परछाईयाँ यार की रुसवाईयाँ, वाह रे मुहोब्बत ! तेरे ही दर्द और तेरी ही दवाईयां…🌺


मेरी उम्र भर की मुसाफ़तें मुझे एक पल ना थका सकीं तेरी इक नज़र की बेरूख़ी से मैं ज़र्रा ज़र्रा बिखर गया…..!!


शायरी आपकी जो न महफ़िल में आएगी ये ज़िन्दगी तब कैसे गुजर पाएगी !!


उदासी, शाम, तन्हाई, यादे, बेचैनी.. मुझे सब सौंपकर सुरज उतर जाता है पानी मे..!!


जिस दिन मेरी मौत कि खबर आयेगी लोग कहेंगे मिला तो कही नही पर शायरी अच्छा करता था !!


कैसे मुमकिन था किसी और दवा से इलाज ग़ालिब, इश्क़ का रोग था, बाप की चप्पल से ही आराम आया !!


मिल जायेंगा हमें भी कोई टूट के चाहने वाला,
अब सारा शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता. !!


alone_image_99hinidistatus


रिश्ता तोड़ना मेरी फ़ितरत में नहीं हम तो बदनाम हैं रिश्ता निभाने के लिये..!!


रोज़ – रोज़ जलते हैं ….. फिर भी खाक़ न हुए …!!
अजीब हैं कुछ ख़्वाब जो..बुझ कर भी राख़ न हुए .??



कभी रज़ामंदी तो कभी …. बग़ावत है इश्क़ ……!!
मोहब्बत राधा की है तो मीरा की इबादत है इश्क़..??

शायरी करने की अदा पर मत फिदा हुआ करो🌹🌹
मेरे दिल के हर अल्फ़ाज़ पर किसी का हक़ है !!


उनके रूठने का तो मत पूछिये जनाब , वो तो इस बात पे भी रूठे है कि मनाया नहीं हमने !!